Posts

कहानी मेरी अधूरी

उनको देखा पर हुई
मुलाक़ात तो नहीं  उनसे मिलने के दिल में हैं   ज़ज्बात तो वहीं 
दिल में उठती है कसक  सुन सके तो सुन ले कोई  टूटे दिल की होती है  आवाज़ क्यों नहीं 
मुफ़लिसी के सिलसिले ये  चल जो पड़े हैं  पीछे हम भी नहीं हटते  हम भी ढीठ बड़े हैं

मुलाक़ात ये हमारी
एक बार है ज़रूरी
चाहते हैं दो दिल मिलना
कुछ है मग़र मज़बूरी

ठुकरा दे चाहे मुझको
ये सारा ज़माना
तू ना मुझे भुलाना
रखना\भले तू दूरी

मिलेगा रब जो मुझको पूछूंगा मैं ये उससे
क्यों हो सकी ना पूरी
कहानी मेरी अधूरी
कहानी तेरी अधूरी

एक तू वहाँ तन्हा

एक तू वहाँ तन्हा
एक मैं यहाँ तन्हा
हमारी मोहबत्तों का
एक अकेला ख़ुदा गवाह

लेलेता रब सब खुशियाँ
देदेता ग़म वो बेइंतिहा
जो होती साथ मेरे तू
ना मुझको होती कुछ परवाह
हमारी मोहबत्तों का
एक अकेला ख़ुदा गवाह

तेरी बेवफाई को
रखेंगे हम सहेज के
तेरी चाहतों का एक
महल हम बनाएंगे
जो वादे तोड़ दिये तूने
वो महल उनसे सजायेंगे
जुदा होकर तू ख़ुश है
चलो इसमें भी क्या गिला
फिर ना पूछे कोई हमसे
कि करके इश्क़ क्या मिला
हमारी मोहबत्तों का
एक अकेला ख़ुदा गवाह

happy marriage anniversary

Ho sake to bhula de mujhe
Ya itna bhi dard na de mujhe
Tuje wasta pahli raat ka
Wo raat fir lota de muje

इश्क़ मेँ कुछ ऐसा हो जाता है

सुना है इश्क़ मेँ कुछ ऐसा हो जाता है
खामोश हवाओं में दर्द नज़र आता है
खामोशियाँ लगती हैं सताने ऐसे
की हर तरफ़ मेहबूब नज़र आता है।

आदतें लगती हैं बुझाने पहेलियाँ
ताने लगती हैं मारने सहेलियाँ
सन्नाटों की क्या कहिये, बिना 'उनके'
महफ़िलों में भी कहाँ सुकून आता है ।

जब देखतें हैं नज़रों में  उनकी
तो मयख़ाने याद आते हैं
डूब कर इश्क़ में उनके
छलकते पैमाने याद आते हैं
हो कर फ़ना इश्क़ में
हीर रांझे दीवाने याद आते हैं ।



happy birthday to you

Jab tak meri saans dil me hai
Tab tak teri yaad mere dil me hai
Na koi fikr tuje meri beshak kuch to jazbaat zinda aaj bhi tere dil me hai

happy birthday to you.

Finally she left

Image
Finally she left
accusing me
of murder threat
I was living in hope
she might just cope
the pressure of hopes
and my neglect
but she left

She said she was fine
even when she was crying
I asked her to not
and she faked her smile
I know she was disturbed
could not adjust
she had to choose
the rules of house
or freedom of office
she piked her job
and rest of losses
she did her best
before she left

we had peace
for so many weeks
then came the burner
and hell broke loose
I shouted at her
she shouted at me
she wanted to separate
I wanted to live
few days hence
she decided to tease
from her bro
came a photo
pics of mine
I asked to remove
she knew it I know
had decided to go
"am no one for her"
its all her brother

murder she did
of my feelings
she thought was recording
audio myself
nothing in it
she checked herself
but then the dairy
was not filled afterwards
she obviously had
planned the worst
she enacted her script
and then she left
accusing me
of murder threat

दावत ऐ दर्द

Image
बस यूं  ही…

१.
इश्क़ के समंदर में
 यूं फ़सा हूँ मैं,
बेख़बर हूँ ख़ुद से
ख़ुद से ख़फ़ा हूँ मैं
आता नहीं मुझे
रूठों को मनना
और वो कहते हैं कि
बेवफ़ा हूँ मैं ।

२.
मुस्कुरा के कभी
जो मिली थी ज़िन्दगी
क्यूँ ख़फ़ा है वो हमसे
हमें  ख़बर नहीं
कैसे कह दूँ ये उनसे
कि जो हैं ग़िले
आज कह दें वो मुझे
आ मिल गले।


रहा वादा कि मर कर भी
तुझको मैं चाहता रहूँगा
गीत अपनी महोब्बत के गाता रहूँगा
है दर्द मेरी तन्हाई में "स्वाति "
इसी से मैं गज़लें बनता रहूँगा।